यूपी टीईटी परीक्षा साल में एक बार होती है। इसलिए इसका महत्तव भी बहुत ज्यादा है। और इसके आवेदन 18 सितंबर 2018 से शुरु हो गए थे। लेकिन अब उम्मीदवारों को आवेदन करने में दिक्कत आ रही है। क्योंकि यूपी टीईटी सर्वर ने गलत समय पर अपना दम तोड़ दिया है। इसका मतलब सर्वर के धीरे काम करने की वजह से उम्मीदवार आवेदन नहीं कर पा रहे है। खबर यह भी है कि कई उम्मीदवारों ने अॉनलाइन शुल्क का भुगतान कर दिया और उनके खाते से रुपए भी कट गए है। लेकिन उनको आवेदन शुल्क के भुगतान की रसीद नहीं मिली है। इसके कारण साइबर कैफे संचालकों ने भी उत्तर प्रदेश टीईटी फॉर्म भरने से मना कर दिया है। जिससे उम्मीदवारों की परेशानियां बढ़ती ही जा रही है। आपको बता दें कि शुरुआत के दिनों में टीईटी सर्वर अच्छे से काम कर रहा था। लेकिन अब सर्वर न के बराबर काम कर रहा है। आवेदन करने में दिक्कत आने का कारण टीईटी सर्वर की कम क्षमता बताई जा रही है।

पिछले 4 दिन से टीईटी सर्वर है ठप।

इस पर बेसिक शिक्षा के अपर मुख्य सचिव डॉ. प्रभात कुमार ने ध्यान दिया है। उन्होंने इस समस्या पर नाराजगी जताई है। और कहा की शुक्रवार सुबह तक इस परेशानी का हल निकाल दिया जाएगा। इससे पहले भी उम्मीदवारों ने आवेदन शुल्क की रसीद न मिलने की शिकायत की थी लेकिन उसका भी कोई हल नहीं निकाला गया। जिस पर परीक्षा नियामक प्रधिकारी सचिव ने एनआइसी से बात कर खराब व्यवस्था ठीक करने के लिए कहा। यह दिक्कत एक या दो राज्य में नहीं आ रही है। बल्की कई राज्यों से आवेदन करने में दिक्कत की शिकायत आ रही है।

सर्वर की क्षमता कम होनी की वजह से उम्मीदवार आवेदन नहीं कर पा रहे है। और सर्वर की क्षमता कम होने का कारण भारी मात्रा में आवेदन करने को बताया जा रहा है। और अब सर्वर की क्षमता बढ़ाने पर अधिकारियों के बीच बात हो रही है। अपर मुख्य सचिव ने कहा है की शक्रवार से आवेदन करने में परेशानी नहीं आएगी। लेकिन देखने वाली बात यह है कि इतनी बढ़ी परीक्षा के सर्वर पर ध्यान अब दिया जा रहा है। जो परीक्षा साल में एक बार आयोजित होती है उसके आवेदन भारी मात्रा में होना लाज़मी था। तो अधिकारियों ने इस बात पर गोर क्यों नहीं किया।

टीईटी के आवेदन करने की आखिरी तारीख 4 अक्टूबर 2018 है।

और अभी तक उम्मीदवारों को आवेदन करने में दिक्कत आ रही है। और इस साल करोड़ो में आवेदन आने की उम्मीद है। क्योंकि इस साल प्राथमिक स्कूलों के लिए बीएड उम्मीदवार भी आवेदन कर सकते है। 15 लाख आवेदन आने का अनुमान लगाया जा रहा है। अभी तक करीब साढ़े पांच लाख पंजीकरण हो चुके है। और करीब तीन लाख आवेदन हो चुके है। और अभी आवेदन 5 दिनों तक और चलेंगे। तो हम अनुमान लगा सकते है कि अभी आवेदन करने की संख्या में बढ़ोत्तरी हो सकती है।

यूपी टीईटी के आवेदन 18 सितंबर 2018 से शुरु हुए थे। यह परीक्षा 4 नवंबर 2018 को आयोजित की जाएगी। यह परीक्षा दो शिफ्ट में होगी। पहली शिफ्ट सुबह 10 बजे से साढ़े 12 बजे तक होगी। वही दूसरी शिफ्ट दोपहर में ढ़ाई बजे से 5 बजे तक होगी। इस परीक्षा की उत्तर कुंजी 6 नवंबर को जारी की जाएगी। और यूपी टीईटी परीक्षा का परिणाम 20 नवंबर 2018 को जारी किया जाएगा। इसके बाद ही उम्मीदवारों की नियुक्ति की जाएगी। आपको बता दें कि आवेदन करने की आखिरी तारीख 4 अक्टूबर 2018 है।

मेरा नाम सुरभि शर्मा है।मैंने जर्नलिज्म इन मास कम्युनिकेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन कर रखी है।हिंदी अगलासेम में मैं हिंदी कंटेंट राइटर की पोस्ट पर काम करती हूं।यहां पर मैं आपके लिए सभी तरह की शिक्षा से जुड़ी सारी जानकारी देने की पूरी कोशिश करुंगी।लिखने में दिलचस्पी मुझे काफी लंबे समय से है।और शिक्षा के क्षेत्र में लिखने से मुझे काफी कुछ सिखने को मिल रहा है।जो मैं आप सभी के लिए भी लाती रहूंगी।