राजस्थान सरकार ने किया राजीव गाँधी करियर पोर्टल की शुरुआत

राजस्थान सरकार ने एक करियर पोर्टल शुरू कर दिया है। राजस्थान सरकार ने इस पोर्टल का नाम राजीव गाँधी पोर्टल नाम रखा है। राजीव गाँधी पोर्टल कक्षा 9वीं से 12वीं विधार्थियों के लिए होगा। इस पोर्टल से छात्रों को करियर बनाने में मार्गदर्शन, विभिन्न प्रवेश परीक्षाओं, स्कॉलरशिप्स, रोजगार पाठ्यक्रमों के बारे में छात्रों को महत्त्वपूर्ण ऑनलाईन जानकारियां दी जाएगी। राजीव गाँधी करियर पोर्टल यूनिसेफके सहायता से बनाया गया है। यह पोर्टल पूरे देश में राजस्थान में ही सबसे पहले तैयार किया गया है।

गौरतलब है कि राजीव गाँधी करियर पोर्टल कक्षा 9 से कक्षा से बाहरवीं कक्षा के छात्रों के लिए बनाया गया है।  छात्र इस पोर्टल के माध्यम से 200 से अधिक व्यावसायिक शिक्षा और 237 से अधिक पेशेवर करियर के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। राजस्थान सरकार की यह रोजगारोन्मुखी शिक्षा को बढ़ावा देने की बहुत बड़ी पहल है। छात्र पोर्टल के माध्यम से 455 से अधिक रोजगार क्षेत्रों, देश के प्रमुख 10 हजार कॉलेजों, 960 छात्रवृत्तियों और 955 से अधिक प्रवेश परीक्षाओं के बारे में ऑनलाइन जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।  साथ ही इसकी उपयोगिता और बच्चों की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए निरंतर अपने आपको अपडेट भी रखेगा।

बता दें कि राजीव गाँधी करियर पोर्टल के माध्यम से राज्य के 21 लाख छात्रों को अपने करियर बनाने में सहायता होगी। छात्र इस पोर्टल के माध्यम से हिंदी या अंग्रेजी दोनों भाषा में जानकारी ले सकते हैं। मंत्री डोटासरा ने बयान देते हुए कहा कि यह पोर्टल सरकार के द्वारा एक नया प्रयास है। इस पोर्टल से हम स्कूल में छात्रों को और अच्छी शिक्षा प्रधान कर सकते हैं।  साथ ही साथ उन्होंने बोला कि देश में सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आई.टी.) की पहल पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी ने ही की थी। इसलिए हमने इस पोर्टल का नामकरण राजीव गाँधी के नाम पर किया है।

सरकार की इस मुहिम से शिक्षा में बहुत हद तक सुधार आएगा। अब छात्रों को करियर के बारे कुछ भी जानकारी इस पोर्टल के माध्यम से आसानी से मिल जाएगी। इस मौके पर यूनिसेफ की प्रमुख ईशाबेल ने बताया कि अनिवार्य शिक्षा अधिकार के लाइव विश्व के 14 देशों में विद्यार्थियों के लिए उच्च शिक्षा के जो अवसर है, उनके बारे में भी करियर पोर्टल में जानकारी दी गई है। आपको बता दें कि भारत में पहली बार ऐसा हुआ है कि करियर को लेकर कोई पोर्टल खोला गया हो। ऐसे ही पोर्टल भारत के हर राज्य में खोल दिया जाये तो भारत में शिक्षा का स्तर बहुत ऊँचा हो जायेगा।

नाम अनिल कुमार है काम लिखना पसंद है ऐसे तो हम रहने वाले गोरखपुर (यूपी )के है लेकिन शुरू से दिल्ली को ही अपना निवास स्थान मान लिया है। मैंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से बी.ए हिंदी (ऑनर्स) किया है और हिंदी जर्नलिज्म में पोस्ट ग्रेजुएशन भी दिल्ली यूनिवर्सिटी से किया है। मैंने नेटवर्क 18 और बोलता हिंदुस्तान वेब पोर्टल में इंटरशिप की है। इसके अलावा मैंने नवभारत टाइम्स और नवोदय टाइम्स में सोशल वर्क भी किया है। मेरी एनबीटी में करीब 50 से ज्यादा न्यूज़ प्रकाशित हो चुकी है वहीं नवोदय टाइम्स में करीब 25 न्यूज़ प्रकाशित हो चुकी है। मुझें 2017 में एनबीटी ने सिटीजन रिपोर्टर ऑफ वीक भी बनाया है। आप मेरे ईमेल आईडी [email protected] के माध्यम से सम्पर्क कर सकते हैं।