ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में 700 भारतीय शब्दों ने बनाई जगह

आज कल बातचीत के बीच में हम अंग्रेजी के कई शब्दों का इस्तेमाल कर देते हैं। और हमे पता भी नहीं चलता है। वो सारे अंग्रेजी शब्द हमारी जिंदगी से जुड़ गए हैं। लेकिन समय के साथ हिंदी ने भी समाज में अपना एक अलग स्थान बना लिया है। और हिन्दी दिनप्रति दिन अपनी एक अलग पहचान भी बनाती जा रही है। सबसे ज्यादा हिंदी भारत में बोली जाती है। हाल ही में ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी ने हिंदी के कई शब्दों को अपनी डिक्शनरी में जगह दी है। ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी ने हिंदी के साथ भारतीय अन्य शब्दों को मिलाकर लगभग 700 शब्द जोड़े हैं। इसमें हिंदी, उर्दू, तमिल, तेलुगु, और गुजरती के शब्दों ने अपनी जगह बनाई है।

ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में हिंदी के 70 शब्द ऐसे हैं जिनको समाज में अलग पहचान मिली है। उदाहरण अच्छा, अब्बा, दीदी, बापू , बड़ा दिन, बच्चा और सूर्य नमस्कार जैसे कई शब्द है। इसका सीधा मतलब है हिंदी की लोकप्रियता का दिन प्रति दिन बढ़ना। आने वाले समय में हिंदी पुरे संसार में जानी जाएगी ।

ऑक्सफर्ड इंग्लिश डिक्शनरी की विश्व अंग्रेजी संपादक डेनिका सालाजार द्वारा इस संदर्भ में लिखे गए लेख के अनुसार उदाहरण के लिए उर्दू के नमकीन शब्द का इस्तेमाल हिंदी में भी समान रूप से किया जाता है, जबकि मिर्च-मसाला का व्यापक प्रयोग मसालों के पाउडर अथवा मिश्रण के लिए होता है।

​हालांकि हिंदी में मिर्च और काली मिर्च दो अलग-अलग मसाले हैं। इसमें मिर्च शब्द हिंदी से लिया गया है, जबकि मसाला उर्दू भाषा से आया है। उन्होंने कहा कि नए शामिल किए गए शब्द पूरी तरह से भारतीय नहीं हैं, बल्कि ये नए शब्द भारतीय-नुमा हैं। जैसे अंग्रेज यहां से जाते समय एक व्यंजन टिक्का-मसाला अपने साथ ले गए। आमतौर पर यह भुने हुए मांस का मसालेदार टुकड़ा होता है। लेकिन अब यह शब्द ब्रिटेन के दक्षिण भारतीय रेस्त्रां में भी पयार्प्त रूप से प्रचलन में आ गया है।

उर्दू और हिंदी के संयोजन से दादागिरी शब्द बना है। हालांकि हिंदी में दादा रिश्ते-नाते के संदर्भ में प्रयुक्त होता है, लेकिन इसके साथ गिरी जोड़ देने से यह गुंडा या गिरोह के सरगना का अर्थ ध्वनित करता है। भारतीय भाषाओं के ये नए 70 शब्द संस्कृति, खाने-पीने या रिश्ते-नातों से लिए गए हैं।

​ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में अच्छा और अन्ना शब्द पहले ही जगह बना चुके हैं।  

कुछ ही लोगों को पता होगा कि हिंदी का अच्छा शब्द ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में पहली ही अपनी जगह पक्की कर चुका है। जैस अंग्रेजी में ओके बोलते हैं उसी शब्द का हिंदी में अच्छा होता है।और वही हम अन्ना शब्द की बात करें तो वो ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में संज्ञा (नाउन) के रूप में शामिल था। जो हम भारतीय भाषा तमिल और तेलगु में बड़े भाई को बोलते है। ऐसे तमाम शब्द हैं जिन्होंने ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में अपनी जगह बनाई है।

आपको बता दें कि ऑक्सफोर्ड डिक्शनरीज के मुताबिक हम विशेषज्ञों के एक पैनल के साथ काम करके इस साल के कई उम्मीदवार शब्दों पर विचार करते हैं और एक ऐसा शब्द चुनते हैं। जो इस साल के लोकाचार, भावनाओं और पूर्वाग्रहों को प्रतिबिंबित करता है और आने वाले समय में सांस्कृतिक महत्व के एक शब्द के रूप में सम्भावना रखता है।

मेरा नाम अनिल कुमार है। मैंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से बी.ए और पोस्ट ग्रेजुएशन किया है । मुझें ग्राउंड रिपोर्टिंग करना अच्छा लगता है और न्यूज़ लिखना भी बहुत पसंद है। मैं उम्मीद करता हूँ आप लोगो को मेरे द्वारा लिखी हुई न्यूज़ पसंद आएगी। आप लोगों को मेरे न्यूज़ से कोई भी सवाल हो तो आप कमेंट बॉक्स के माध्यम से मेरे से पूछ सकते हो।