nios time table change due to loksabha election

एनआईओएस (नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ स्कूलिंग) की 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षाएं अप्रैल के महीनें में शुरु हो रही हैं। 10वीं कक्षा की परीक्षाएं 3 अप्रैल, 2019 से शुरु हैं और 12वीं कक्षा की परीक्षाएं 2 अप्रैल, 2019 से शुरु हैं। इसी बीच 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों का ऐलान भी हो चुका है। पहले चरण के लोकसभा चुनाव 11 अप्रैल, 2019 को होंगे। चुनावों के कारण एनआईओएस को परीक्षा टाइम टेबल में कुछ बदलाव करना पड़ा है। एनआईओएस टाइम टेबल में 10 अप्रैल, 2019 के बाद बदलाव किया गया है।

एनआईओएस कक्षा दसवीं और बारहवीं की जो परीक्षा दस अप्रैल को या उसके बाद होनी है उसमें एनआईओएस ने बदलाव किया है। परीक्षा तारीख में बदलाव करने के बाद एनआईओएस रिवाइज्ड टाइम टेबल 2019 जारी कर दिया गया है। विद्यार्थी एनआईओएस की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर नया टाइम टेबल देख सकते हैं। जो विद्यार्थी इस साल एनआईओएस की परीक्षा देंगे उन्हें हम बता दें कि अब वो अपनी परीक्षा की तैयारी नए टाइम टेबल के अनुसार करें। एनआईओएस दसवीं और बारहवीं के प्रैक्टिकल एग्जाम 16 मार्च, 2019 से शुरू हैं और 30 मार्च, 2019 को खत्म हैं। परीक्षा टाइमटेबल मेंं हुए बदलाव से विद्यार्थियों को तैयारी के लिए थोड़ा और समय मिल जाएगा।

चुनाव आयोग ने रविवार को एक नोटिस जारी करके देश भर में होने वाले लोकसभा चुनावों की घोषणा कर दी है। इसी को देखते हुए एनआईओएस ने बताया कि लोकसभा चुनाव के कारण परीक्षा टाइम टेबल में बदलाव किया जा रहा है। इसकी जानकारी एनआईओएस ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर दी है और नया टाइम टेबल भी जारी कर दिया है। लोकसभा चुनाव के कारण एनआईओएस परीक्षा के अलावा दूसरी और कई परीक्षाओं में भी बदलाव देखने को मिल रहा है। यूपी में होने वाली बीएड एंट्रेंस परीक्षा और सीए परीक्षा की तारीख को भी आगे बढ़ा दिया गया है।

एनआईओएस कक्षा 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 3 अप्रैल, 2019 से शुरू होकर 4 मई, 2019 तक चलेंगी। यह परीक्षाएं दोपहर की शिफ्ट में 2:30 से 5:30 बजे तक कराई जाएंगी। परीक्षा के लिए सभी विद्यार्थियों के एडमिट कार्ड जारी किए जाएंगे। नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग (एनआईओएस) पूरे भारत में मुक्त शिक्षा काउंसलिंग है। एनआईओएस हर साल ओपन बोर्ड की परीक्षा आयोजित करता है। एनआईओएस ओपन स्कूल छात्रों को डिस्टेंस से अपनी पढ़ाई पूरी करने का मौका देता है। नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग 1979 में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा शुरू किया गया था। 1986 में शिक्षा पर राष्ट्रीय नीति ने माध्यमिक स्तर पर अच्छे तरीके से खुली शिक्षा सुविधाओं को बड़ा करने के लिए ओपन स्कूल प्रणाली को मजबूत करने का सुझाव दिया गया।