केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानि कि सीबीएसई ने मेरिट स्कॉलरशिप के अॉनलाइन आवेदन की तारीख आगे बढ़ा दी है। सीबीएसई मेरिट स्कॉलरशिप स्कीम के लिए सिंगल गर्ल चाइल्ड + 2 विषय 2018 के लिए तारीख बढ़ा दी है। अब अॉनलाइन आवेदन करने की आखिरी तारीख 15 अक्टूबर 2018 है। वहीं 2017 में सिंगल गर्ल चाइल्ड दसवीं में पास होने पर सीबीएसई मेरिट स्कॉलरशिप स्कीम के ऑनलाइन आवेदनों का नवीनीकरण भी किया है। इसके अॉनलाइन आवेदन करने की आखिरी तारीख 15 अक्टूबर 2018 है। और आवेदन पत्र की हार्ड कॉपी जमा करने की आखिरी तारीख (केवल नवीकरण) 15 नवंबर 2018 है। अंतिम तारीख के बाद प्राप्त हार्ड कॉपी को स्वीकार नहीं किया जाएगा। इसलिए छात्र बदली गई तारीख के हिसाब से मेरिट स्कॉलरशिप के अॉनलाइन आवेदन करें।

15 अक्टूबर 2018 तक मेरिट स्कॉलरशिप के अॉनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

इससे पहले अॉनलाइन आवेदन करने की आखिरी तारीख 5 अक्टूबर 2018 थी। और आवेदन पत्र की हार्ड कॉपी जमा करने की आखिरी तारीख (केवल नवीकरण) 31 अक्टूबर 2018 थी। लेकिन अब इनकी तारीखों में बदलाव कर दिया गया है। छात्र अब नई तारीखों के अनुसार स्कॉलरशिप के अॉनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके आवेदन आप सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर कर सकते हैं। इसके लिए आवेदन करने के कुछ नियम भी हैं। यह आवेदन र्सिफ वही छात्र कर सकते हैं जिन छात्रों ने कक्षा 10वीं सीबीएसई के अंतर्गत स्कूलों में की है। सीबीएसई ने र्सिफ तारीखों में बदलाव किया है। बाकी की जानकारी के साथ पात्रता मापदंड वही रहेगा। ज्यादा जानकारी के लिए छात्र सीबीएसई की आधिकारिक वेवसाइट पर जा सकते हैं।

हार्ड कॉपी जमा करने की आखिरी तारीख (केवल नवीकरण) 15 नवंबर 2018 है।

सीबीएसई अगले साल 2019 में नए कोर्स लाएगा। 2019 में सीबीएसई ‘कौशल शिक्षा’ (व्यावसायिक) की परीक्षा शुरु करेगा। यह परीक्षा फरवरी के दूसरे हफ्ते में आयोजित की जाएगी। और बाकी विषयों की परीक्षा भी इसी दौरान करवाई जाएगी। वोकेशनल कोर्स कई तरह के हैं। छात्रों को अपनी रुचि अनुसार वोकेशनल कोर्स को चुनना होगा। रिटेलिंग, सूचान प्रौद्योगिकी, पर्यटन के लिए परिचय, प्रारंभिक कृषि आदि जैसे बहुत से कोर्स सीबीएसई अगले साल लाएगा। वोकेशनल कोर्स लगभग 40 हैं। जो कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्रों को चुनने होंगे।

वोकेशनल कोर्स छठे विषय के रुप में होगा। जो हर छात्र अपनी इच्छा अनुसार चुन सकता हैं। बाकी के विषयों की तरह इसकी परीक्षा कुल 100 अंक की होगी। यह परीक्षा फरवरी के दूसरे हफ्ते में होगी। जिससे की छात्रों को कोर विषय और वोकेशनल विषय की परीक्षा में गेप मिल जाए। और छात्र दोनों की परीक्षा की तैयारी अच्छे से कर सकें। वोकेशनल कोर्स की वजह से छात्रों को नए- नए कोर्स के बारे में पता चलेगा। साथ ही भविष्य में इन कोर्स से छात्र अपनी आगे की पढ़ाई के बारे में सोच सकते हैं।

जो बाकी के कोर विषय है उनसे पहले ही वोकेशनल कोर्स की परीक्षा करवाई जाएगी। बताया जा रहा है कि वोकेशनल कोर्स ज्यादा प्रैक्टिकल होगें और थियोरी कम होगी। जिससे छात्रों का इन विषयों को लेकर प्रैक्टिकल ज्ञान बढ़ेगा। और सीबीएसई को यह भी र्निदेश मिले हैं कि वो दिल्ली यूनिवर्सिटी के कट अॉफ लिस्ट जारी होने से पहले वोकेशनल कोर्स की परीक्षा पूरी कर लें। ताकि छात्रों को दाखिला लेने में देरी न हो जाए। समय पर परीक्षा होने से छात्र अपने कॉलेज के भी चयन कर सकते हैं।

मेरा नाम सुरभि शर्मा है।मैंने जर्नलिज्म इन मास कम्युनिकेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन कर रखी है।हिंदी अगलासेम में मैं हिंदी कंटेंट राइटर की पोस्ट पर काम करती हूं।यहां पर मैं आपके लिए सभी तरह की शिक्षा से जुड़ी सारी जानकारी देने की पूरी कोशिश करुंगी।लिखने में दिलचस्पी मुझे काफी लंबे समय से है।और शिक्षा के क्षेत्र में लिखने से मुझे काफी कुछ सिखने को मिल रहा है।जो मैं आप सभी के लिए भी लाती रहूंगी।