सीबीएसई ने शुरु किया बोर्ड एग्जाम से पहले काउंसलिंग सेशन

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन की बोर्ड की परीक्षा शुरु होने वाली है। आपको बता दें कि 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षा शुरु होने में अब बहुत ही कम समय रह गया है। सीबीएसई 12वीं बोर्ड की परीक्षा 15 फरवरी 2019 से शुरु हो रही है वहीं सीबीएसई 10वीं बोर्ड की परीक्षा 21 फरवरी 2019 से शुरु होने वाली है। देश के हर छात्र के लिए बोर्ड की परीक्षा सबसे महत्तवपूर्ण मानी जाती है। और इससे पहले सभी छात्र अपनी बोर्ड की परीक्षा को लेकर टेंशन में रहते हैं। छात्रों के तनाव को कम करने के लिए सीबीएसई ने काउंसलिंग शुरु की है। इसको साइकोलॉजिकल काउंसलिंग भी कह सकते हैं।

इस काउंसलिंग में छात्र अपनी बोर्ड परीक्षा से जुड़ी किसी भी तरह का सवाल पूछ सकते हैं। छात्र इस सुविधा का लाभ बहुत आसानी से उठा सकते हैं। सीबीएसई ने छात्रों और उनके माता – पिता के लिए इस काउंसलिंग से जुड़ने के लिए एक टोल फ्री नंबर जारी किया है। यह टोल फ्री नंबर 1800118004 है। यह सेवा भारत और विदेश दोनों में उपलब्ध है। आपको बता दें कि यह सीबीएसई के द्वारा जारी किया गया टोल फ्री नंबर सुबह 8 बजे से लेकर रात 10 बजे तक उपलब्ध है। छात्र इसके बीच अपनी कोई भी परेशानी का हल पा सकते हैं।

टोल फ्री नंबर के अलावा सीबीएसई ने टेली काउंसलिंग की सुविधा भी उपलब्ध करवाई हुई है। इस कांउसलिंग में अनुभवी अध्यापक और प्रिंसिपल छात्रों को बोर्ड परीक्षा से जुड़ी काउंसलिंग देते हैं। यह काउंसलिंग एक तरह की फ्री सर्विस है जिससे सभी छात्र जो बोर्ड की परीक्षा देने वाले हैं इसका लाभ उठा सकते हैं। सीबीएसई के द्वारा यह काउंसलिंग साल में दो फेस में होती है। पहले फेस की काउंसलिंग बोर्ड परीक्षा से पहले होती है जो फरवरी से अप्रैल के बीच में होती है। वहीं दूसरे फेस की काउंसलिंग बोर्ड परीक्षा के बाद होती है जो मई और जून के बीच में आयोजित की जाती है।

आपको बता दें कि काउंसलिंग के अलावा फीडबैक और ट्रेनिंग सेशन पूरे साल जारी रहता है। जिससे काउंसलिंग में भाग ले रहे उम्मीदवारों की ट्रेनिंग अच्छे से हो सकें।  छात्रों के लिए जो टोल फ्री नंबर जारी किया गया है वो पूरे देश में सभी के लिए उपलब्ध है। अगर छात्रों को परीक्षा से जुड़े सवाल हैं तो उन सवालों को हल ऑपरेटर कर देते हैं। और अगर छात्रों को बोर्ड परीक्षा से डर लग रहा है या फिर परीक्षा को लेकर किसी तरह की टेंशन है तो छात्रों को सीधा अनुभवी अध्यापकों और प्रिंसिपल से बात कर सलाह दी जाती है। इसके साथ ही सीबीएसई दिव्यांग छात्रों के लिए काउंसलिंग की सुविधा भी उपलब्ध करवाता है।

मेरा नाम सुरभि शर्मा है।मैंने जर्नलिज्म इन मास कम्युनिकेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन कर रखी है।हिंदी अगलासेम में मैं हिंदी कंटेंट राइटर की पोस्ट पर काम करती हूं।यहां पर मैं आपके लिए सभी तरह की शिक्षा से जुड़ी सारी जानकारी देने की पूरी कोशिश करुंगी।लिखने में दिलचस्पी मुझे काफी लंबे समय से है।और शिक्षा के क्षेत्र में लिखने से मुझे काफी कुछ सिखने को मिल रहा है।जो मैं आप सभी के लिए भी लाती रहूंगी।