बिहार बोर्ड 2019

बिहार बोर्ड के द्वारा मैट्रिक और इंटर की परीक्षा फरवरी 2019 में आयोजित होने वाली है। बिहार बोर्ड 2019 टाइम टेबल जारी कर दी गई है। बता दें कि इंटर की परीक्षा दिनांक 6 फरवरी 2019 से शुरू होगी। वहीं मैट्रिक की परीक्षा 21 फरवरी 2019 से शुरू की जाएगी। वर्ष 2019 में बिहार बोर्ड से 10वीं और 12वीं की परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों को बता दें कि बिहार बोर्ड की परीक्षा पैटर्न में कुछ बदलाव किए गए हैं। होने वाले बदलाव की जानकारी बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने शनिवार को प्रेस वार्ता में दी।

आनंद किशोर के अनुसार प्रश्नों के पैटर्न के साथ ही उत्तर पुस्तिका भरने के पैटर्न में भी कुछ बदलाव किए गए हैं। वर्ष 2019 में उत्तर पुस्तिका (आंसर शीट) में बार कोड दिया होगा। आंसर शीट में सभी छात्रों के विवरण दिए जाएंगे। छात्रों को आंसर शीट में केवल परीक्षा का माध्यम, हस्ताक्षर और प्रश्न पत्र का सेट भरना होगा। गौरतलब है कि वर्ष 2018 की परीक्षा में उत्तर पुस्तिका के ऊपर के पृष्ठ पर गलत जानकारियां भरने के कारण रिजल्ट पेंडिंग हो गया था। इस बात को ध्यान में रखते हुए उत्तर पुस्तिका भरने के पैटर्न में बदलाव किया गया है। बता दें कि बिहार बोर्ड देश का पहला बोर्ड है जहां छात्रों की सुविधा के लिए आंसर शीट भरने के पैटर्न में यह बदलाव किया जा रहा है।

बिहार बोर्ड परीक्षा 2019 में प्रश्न पत्र के 10 सेट होंगे। सभी सेट एक दूसरे से अलग होंगे। छात्रों को आंसर शीट में प्रश्न पत्र का सेट लिखना अनिवार्य है। बोर्ड परीक्षा में प्रश्नों की संख्या को बढ़ा दिया गया है। परीक्षा में कुल 27 सब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जाएंगे जो 3 और 5 अंकों का होगा। इन 27 प्रश्नों में से छात्र किसी भी 15 प्रश्नों का उत्तर दे सकते हैं।

परीक्षा केंद्र में शिक्षकों के अलावा किसी को भी मोबाइल फोन ले जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। प्रश्न पत्र के वायरल होने पर रोक लगाने के लिए ऐसा किया जाएगा। परीक्षा में होने वाली नकल को रोकने के लिए छात्रों को जूते और मोजे पहन कर परीक्षा केंद्र में जाने पर रोक लगा दिया गया है। परीक्षा केंद्र में दाखिला से पहले सभी छात्रों की दो बार चेकिंग (जांच) की जाएगी। मोबाइल फोने, कैलकुलेटर, किताबें आदि वस्तुएं पाए जाने पर अथवा नकल करने वाले छात्रों को सस्पेंड भी किया जा सकता है।

बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने यह भी बताया कि बिहार बोर्ड जल्द ही एक मोबाइल ऐप लॉन्च करने की तैयारी में है। इस ऐप के माध्यम से छात्रों को उनके परीक्षा केंद्र की जानकारियां प्राप्त करने में आसानी होगी। आने वाले कुछ वर्षों में बिहार बोर्ड की परीक्षा पेपरलेस की जा सकती है। बिहार बोर्ड ने इसके लिए कुल 9 क्षेत्रीय केंद्र भी बनाए हैं। यह केंद्र पटना, गया, भागलपुर, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, पूर्णिया, छपरा, मुंगेर और सहरसा में है। इस बर्ष तक इन जगहों में स्थाई कार्यालय बन कर तैयार हो जाएंगे।

हेलो फ्रेंड्स, मैं सौम्या। मैंने मास कम्युनिकेशन से बैचलर्स किया है। मुझे लिखना पसंद है। अभी मैं एजुकेशन पर आर्टिकल्स और न्यूज़ लिखती हूं और उम्मीद करती हूं कि आपको मेरे लिखे हुए आर्टिकल्स पसंद आते होंगे। एजुकेशन के अलावा मुझे फैशन टॉपिक पर आर्टिकल्स लिखना भी पसंद है। लिखने के अलावा मुझे पेंटिंग करना और क्राफ्ट्स बनाने का भी शौक है।