यूपी बोर्ड परीक्षा के पहले दिन ही 20 हजार छात्रों ने नहीं दी परीक्षा-min

यूपी बोर्ड की हाई स्कूल और इंटरमीडिएड की बोर्ड परीक्षा 07 फरवरी 2019 से शुरू हो चुकी है। जानकारी के मुताबिक इस साल यूपी बोर्ड की परीक्षा में कुल 58,06,922 छात्र शामिल होने वाले है। जिसमें से हाईस्कूल की परीक्षा में कुल 31,95,603 छात्र शामिल होंगे वहीं इंटरमीडिएट की परीक्षा में 26,11,319 छात्र शामिल होंगे। बताया जा रहा है कि यूपी बोर्ड की परीक्षा के पहले दिन ही करीब 20 हजार छात्रों ने परीक्षा छोड़ दी है। परीक्षा छोड़ने में सबसे ज्यादा छात्र इंटरमीडिएट के छात्र है। हाई स्कूल के लगभग 566 छात्रों ने ही परीक्षा छोड़ी है। परीक्षा छोड़ने का सबसे बड़ा कारण परीक्षा में नक़ल रोकने का पुख्ता इंतेज़ाम बताया जा रहा है।

गौरतबल है कि यूपी बोर्ड की पहली शिफ्ट में हाई स्कूल की संगीत ज्ञान और इंटर में कष्ट शिल्प,ग्रंथ शिल्प और सिलाई की परीक्षा हुई वहीं दूसरी शिफ्ट में इंटर की मनोविज्ञान, शिक्षाशास्त्र और तर्कशास्त्र की परीक्षा हुई। जानकारी के मुताबिक पहली शिफ्ट में 17 हजार और दूसरी शिफ्ट में ढाई लाख छात्रों को परीक्षा देनी थी। लेकिन उनमें से हाई स्कूल के 566 और इंटर के 20,108 ने परीक्षा छोड़ दी। कुल मिलाकर यूपी बोर्ड की परीक्षा 20674 छात्रों ने छोड़ दी है। इस साल यूपी बोर्ड परीक्षाओं के लिए कुल 8,354 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं और बिना नकल परीक्षा कराने के लिए सभी केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं।

बता दें कि यूपी बोर्ड कि पिछले साल करीब 10 लाख छात्रों ने बीच में ही परीक्षा छोड़ दी थी। यूपी बोर्ड की इस साल हाई स्कूल की परीक्षा 28 फरवरी 2019 तक चलेगी जबकि इंटरमीडिएट की परीक्षा दो 2 मार्च 2019 तक चलेगी।  इसके साथ ही पहली बार यूपी बोर्ड ने सभी 75 जिलों में बार कोडिंग की कापियां भेजी हैं। इस बार यूपी बोर्ड परीक्षा की तारीखों का ऐलान यूपी के उपमुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा ने किया था। बताया जा रहा है की इस साल यूपी बोर्ड परीक्षा देने वाले छात्रों की संख्या में 9,15,846 की कमी आई है।

यूपी बोर्ड की परीक्षाओं के लिए सरकार ने अच्छे इंतजाम किया है। इस साल सभी परीक्षा केंद्रों के लिए प्रश्नपत्रों का केंद्रवार बंडल बनाया गया है। परीक्षाओं में नकल और उत्तर पुस्तिकाओं की हेराफेरी पर अंकुश लगाने के लिए प्रदेश से समस्त जिलों के वास्ते क्रमांकित उत्तर पुस्तिकाओं की व्यवस्था की गई है। यूपी सरकार ने नकल रोकने के लिए 1314 परीक्षा केंद्रों को संवेदनशील और 448 परीक्षा केंद्रों को अतिसंवेदनशील केंद्र घोषित किए हैं। साथ ही इन परीक्षा केंद्रों पर नजर बनाए रखने के लिए स्पेशल टास्क फोर्स भी बनाई गई है। यूपी सरकार ने  बोर्ड ने परीक्षा में आ रही गड़बड़ियों की शिकायतों की सुनवाई और समाधान को लेकर एक टोल-फ्री नंबर 18001805607 भी जारी किया है।

मेरा नाम अनिल कुमार है। मैंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से बी.ए और पोस्ट ग्रेजुएशन किया है । मुझें ग्राउंड रिपोर्टिंग करना अच्छा लगता है और न्यूज़ लिखना भी बहुत पसंद है। मैं उम्मीद करता हूँ आप लोगो को मेरे द्वारा लिखी हुई न्यूज़ पसंद आएगी। आप लोगों को मेरे न्यूज़ से कोई भी सवाल हो तो आप कमेंट बॉक्स के माध्यम से मेरे से पूछ सकते हो।